पल पल इंडिया ब्यूरो, बुरहानपुर. जिले में पुस्तक भंडार संचालकों एवं गणवेश विक्रेताओं काोल बड़ा निराला है. प्रत्येक पुस्तकसंचालक एवं गणवेश विक्रेताओं सेस्कूलों संचालकों से मिलीभगत कर पुस्तकें एवं गणवेश विक्रय करने मेंलगा है. पिछले दिनो शहर के राजेश भगत द्वारा ने एसडीएम को शिकायत की थी, कि पुस्तक भंडार संचालक द्वारा एक पुस्तकें नहीं दी जा रही है, पूरा सेट लेने की बात कही जा रही है. साथ ही ऊंचेदामों पर गणवेश विक्रय की जा रही है. वहीं शुक्रवार को एसडीएम एवंवाणिज्यकर अधिकारी द्वारा सैफी बुक डिपो एवं शिवम कटपीस सेन्टर केसंचालक के विरूद्घ पंचनामा बनाया गया. शहर के कांग्रेस प्रवता राजेश भगत  द्वारा निजी संस्थाओं के लिए किए जा रहे पुस्तक एवं ड्रेस विक्रेताओं के विरूध्द जिला कलेटर से शिकायत की गई थी. उसी कड़ी में एसडीएम काशीराम बड़ोले के नेतृत्व में शुक्रवार को वाणिज्यकर अधिकारी श्री चौरसिया, सहायक वाणिज्यकर अधिकारी एसके साकेत,नगर पुलिस अधिक्षक बीपीएस परिहारद्वारा ड्रेस एवं पुस्तक विक्रेताओं की दुकानों का निरीक्षण किया गया. जिसमें सर्वप्रथम सैफी बुक डिपो पर टीम पहुंची और पाया कि सैफी बुक डिपो संचालक द्वारा उपभोक्ताओं को पका बिल नहीं दिया जा रहा है. वहीं टीम ने अनिल रामदास चौधरी निवासी नेपानगर से पुछा कि तुमने किताबे खरीदी तो बिल यों नहीं लिया, तो उन्होंने कहा कि हमें बिल नहीं दिया गया, केवल कच्चा बिल 750 रूपए कादिया गया. वहीं इस दुकान से एक मात्रपुस्तक नही मिलती है, पुरा सेट लेना पड़ता है. जिसके बाद निरीक्षण टीम द्वार सैफी बुक डिपो से कच्चा एवं पकाबिल जब्त किया गया. वहीं पंचनामा बनाया गया. उल्लेानीय है कि सैफी बुक डिपो संचालक द्वारा शहर की बड़ीनिजी स्कूलों से साठ-गाठ कर पुस्तकोंका सेट पालकों को विक्रय किया जाता है. जो कि अन्य दुकानों पर नहीं मिलता है. अत: पालक को मजबुरन इस दुकान पर जाना पड़ता है.



Comments-
0