पल पल इंडिया ब्यूरो, बुरहानपुर. ४ बजे मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान के नाम कलेक्टर आशुतोष अवस्थी को ७ सूत्रीय मांगों का ज्ञापन सौंपा. राज्य अध्यापक संघ के सभी सदस्य कलेक्टोरेट पहुंचे. अध्यापकों ने कहा शिक्षा विभाग में जल्द संविलियन किया जाए. साथ ही वेतन विसंगति दूर हो. अध्यापकों ने सात सूत्रीय मांगों को विस्तार से बताया. कलेक्टर ने अध्यापकों की एक-एक मांग सुनी. इसके बाद ज्ञापन भेजकर मांगों से मुख्यमंत्री को अवगत कराने का आश्वासन दिया. इस दौरान प्रांतीय प्रवक्ता शालीकराम चौधरी, सहसचिव संतोष निंभोरे, प्रांताध्यक्ष मुरलीधर पाटीदार, जिलाध्यक्ष नंदकिशोर धांडे सहित अन्य सदस्य मौजूद थे. उन्होंने ज्ञापन के माध्यम से १७ सूत्रीय मांग रखी है, इसमें लोक शिक्षण आयुक्त भोपाल को जारी प्रपत्र में अध्यापकों का नई गणना के आधार पर वेतन काटने के निर्देश हैं. वेतन विसंगति दूर की जाए. वर्ग-१ अध्यापक को वर्ग-२ के अध्यापक से कम वेतन मिलने पर अंतरिम राहत बढ़ाई जाए. अध्यापकों का शिक्षा विभाग में जल्द संविलियन किया जाए. सभी अध्यापकों को दी जा रही अंतरिम राहत की शेष तीन किश्त एक साथ इसी साल दी जाए. सभी अध्यापकों का बीमा कराएं. अध्यापकों को क्रमोन्नति वेतनमान में पदोन्नति वेतनमान के समान लाभ दिया जाए. लोक शिक्षण आयुक्त के निर्देशानुसार ५ जून तक जिले में पदोन्नति हो जाना चाहिए थी. अध्यापक संवर्ग की हड़ताल अवधि का वेतन शीघ्र निकाला जाए आदि मांगें शामिल है.



Comments-
0