पल पल इंडिया ब्यूरो, बुरहानपुर. दो साल पहले अपने ही हाथों रोपे पौधों को मुरझाया देख विधायक अर्चना चिटनीस सोमवार को भडक़ गईं. उन्होंने लालबाग रोड के भैरव बाबा मंदिर परिसर में पौधों के हाल देखे तो उनके चेहरे के भाव बदल गए. उन्होंने नाराज होकर पूछा पौधों को पानी क्यों नहीं दिया गया. यहां चौकीदार कौन है. पौधों की देखरेख को लेकर उन्होंने मौके पर मौजूद वन विभाग के कर्मचारियों से भी चर्चा की. पौधारोपण परिसर में कचरा पसरा देख विधायक नाराज हुईं. इस पर उन्होंने खुद ही कचरा उठाना शुरू कर दिया. यह देख साथ आए कार्यकर्ता सफाई में जुट गए. परिसर से उठाया कचरा बाद में जला दिया गया. मानसून की आमद से पहले विधायक अर्चना चिटनीस पौधों के हाल देखने पहुंची थीं. शाम ५.३० बजे भैरव बाबा मंदिर में शीश नवाने के बाद उन्होंने मंदिर के बगल में पौधारोपण परिसर का रूख किया. यहां सूखे-जले पौधे और बदहाली देखकर उन्होंने नाराजगी जताई. उन्होंने ताबड़तोड़ यहां से कचरा उठाया. सूखे पौधों की सिंचाई कर उन्होंने परिसर में त्रिवेणी का पौधा भी रोपा. आसपास के दुकानदारों को बुलाकर उन्होंने कहा यह आप की भी जवाबदारी है कि रोपे गए पौधों की देखरेख करें. मंदिर परिसर में करीब एक घंटा रहीं विधायक ने कहा पानी नहीं मिलने से पौधे मुरझा रहे हैं. इनकी सिंचाई की व्यवस्था की जाए. चार किमी में रोपे गए थे १७६८ पौधेचार किमी के लालबाग फोरलेन के डिवाइडर के बीच दो साल पहले १७६८ पौधे रोपे गए थे. आसपास के रहवासियों द्वारा देखरेख और समय-समय पर सिंचाई होने से इनमें से कई पौधे आज भी जिंदा हैं. कुछ पौधे बड़े भी हो चुके हैं. ये पौधे दो साल पहले मानसून की पहली बारिश के साथ आओ लगाए एक पौधा अभियान के तहत रोपे गए थे. लालबाग फोरलेन, भैरव मंदिर परिसर, सिंधीबस्ती, मरीचिका गार्डन, आदर्श कॉलोनी, वकील चाल सहित अन्य क्षेत्रों में भी पौधे रोपे गए थे. सुरक्षा के लिए पौधों के आसपास ट्री गार्ड भी लगाए गए थे. हालांकि इनमें से कई ट्री गार्ड फिलहाल गायब हो चुके हैं. 



Comments-
0