पल पल इंडिया ब्यूरो, बुरहानपुर. पांडारोल नाला पुलिया पर एक ट्रक ने युवक को कुचल दिया. मौके पर ही उसकी मौत हो गई. हादसा इतना वीभत्स था कि युवक के शरीर के दो टुकड़े हो गए. युवक को कुचलने के बाद ड्राइवर ट्रक लेकर भाग गया. हादसा मंगलवार रात ८.४५ बजे का है. जानकारी के अनुसार सुभाष उत्कृष्ट स्कूल परिसर में रहने वाला सागर सोनी बाइक से लालबाग की ओर जा रहा था. पांडारोल नाला पुलिया पर ट्रक ने उसे कुचल दिया. रोड पर आधे घंटे तक शव पड़ा रहा. बाद में सीएसपी बीपीएस परिहार और कोतवाली टीआई हनुमंतसिंह राजपूत बल के साथ मौके पर पहुंचे. रोड पर शव पर सीएसपी ने कपड़ा ढंकवाया. लोगों की मदद से शव को जिला अस्पताल पहुंचाया गया. रोड पर पड़े शव और लग रहे जाम को देख सीएसपी ने शव अस्पताल ले जाने के लिए निगम की शववाहिनी को सूचना दी. इसके बाद भी शववाहिनी नहीं पहुंची. सीएसपी ने एक टेम्पो रुकवाया लेकिन यह भी बंद पड़ गया. रोड से गुजर रही एंबुलेंस १०८ रुकवाई तो ड्राइवर शव ले जाने से इनकार कर चलता बना. लोडिंग ऑटो से शव अस्पताल पहुंचाया गया. भीड़ को हटाने के लिए पुलिस को हल्का बल प्रयोग भी करना पड़ा. सागर के पिता गजानंद का तीन साल पहले निधन हो चुका है. मां सीमा गृहिणी है. सागर इलेक्ट्रीशियन का काम करता था. सागर परिवार में इकलौता कमाने वाला था. हालांकि छोटा भाई राम भी उसकी मदद करता था.अब घर जाकर मां को क्या कहूंगाहादसे की सूचना मिलते ही सागर का भाई राम भी मौके पर पहुंचा. यहां बाइक देख उसने कहा यह बाइक मेरी है. मेरा भाई कहां है. पुलिस ने उससे कहा तुम्हारे भाई को खून की जरूरत है. अस्पताल जाओ. रोते-बिलखते राम को पुलिस ने जैसे-तैसे अस्पताल पहुंचाया. यहां भाई के शरीर पर कपड़े और जूते देखकर वह बदहवास हो गया. रोते हुए उसने कहा अब घर जाकर मां से क्या कहूंगा.२५ दिन पहले भी इसी जगह हुआ था हादसासागर के साथ २५ दिन पहले पांडारोल नाला पुलिया पर हादसा हुआ था. ९ मई को रात ११.३० बजे सागर की बाइक पुलिया पर फिसल गई थी. घायल सागर को एएसपी भगवतसिंह बिरदे ने एंटी रॉयल व्हीकल से जिला अस्पताल पहुंचाया था. ठीक २५ दिन बाद पुलिया की उसी जगह सागर की ट्रक से कुचलने से मौत हो गई.



Comments-
0