नई दिल्ली. लोकसभा चुनाव के आठवें चरण के तहत बुधवार सुबह सात राज्यों की 64 सीटों पर मतदान जारी है. पिछले चरणों की ही तरह लोकसभा चुनाव के इस चरण में भी बंपर वोटिंग हो रही है. दोपहर एक बजे तक पश्चिम बंगाल में 48.03 फीसदी, आंध्रप्रदेश में 42.08 फीसदी, हिमाचल में 37 फीसदी, उत्तरप्रदेश में 36.15 फीसदी और बिहार में 36.18 फीसदी मतदान की ख़बर है.

इस चरण में उत्तर प्रदेश की 15, बिहार में सात, उत्तराखंड की सभी पांच, हिमाचल प्रदेश की सभी चार, पश्चिम बंगाल की छह, जम्मू-कश्मीर की दो और आंध्र प्रदेश में 25 सीटों के लिए कुल 1737 उम्मीदवार मैदान में हैं.

आज करीब 19 करोड़ मतदाता इनका भाग्य तय करेंगे. इस चरण के साथ ही 543 संसदीय सीटों में से 502 पर चुनाव प्रक्रिया संपन्न हो जाएगी. बाकी 41 सीटों पर नौवें व अंतिम चरण के तहत 12 मई को वोटिंग होगी. चुनाव का यह दौर कांग्रेस के लिए काफी अहम है, क्योंकि 64 में से 31 सीटें फिलहाल उसके कब्जे में हैं. भाजपा के पास सिर्फ पांच सीटें हैं.

आज जिन दिग्गजों की किस्मत का फैसला जनता करेगी उनमें प्रमुख हैं- कांग्रेस के उपाध्यक्ष राहुल गांधी, बीजेपी के महासचिव वरुण गांधी, केंद्रीय मंत्री बेनी प्रसाद वर्मा, पल्लम राजू, पी. लक्ष्मी, डी पुरंदेश्वरी, बिहार की पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी, एलजेपी सुप्रीमो रामविलास पासवान, बीजेपी नेता राजीव प्रताप रूडी और अनुराग ठाकुर.

पश्चिम बंगाल

पश्चिम बंगाल में लोकसभा चुनाव के लिए छह सीटों के लिए मतदान हो रहा है. यहां दोपहर एक बजे तक 48.03 फीसदी मतदान हुआ है. इनमें से चार सीटें जंगलमहल इलाके में पड़ती हैं जो माओवादियों का गढ़ रहा है वाम दल पर बांकुरा, झारग्राम, पुरलिया, मिदनापुर, बिष्णुपुर और आसनसोल की अपनी सीटें बरकरार रखने का दबाव होगा. वाम ने 2009 लोकसभा चुनावों में इन सीटों पर जीत दर्ज की थी. पिछले लोकसभा चुनाव में माकपा ने चार सीटों पर जीत दर्ज की थी जबकि फार्वड ब्लॉक और भाकपा ने एक एक सीट पर कब्जा किया था.

इन छह में तीन सीटों पर पूर्व अभिनेत्रियों मुनमुन सेन एवं संध्या राय और गायक बाबुल सुप्रियो कड़ी टक्कर दे सकते हैं. इस दौरान 46,08,838 पुरषों एवं 42,68,191 महिलाओं और 42 अन्य लिंग के मतदाताओं समेत कुल 88,77,071 मतदाता 72 उम्मीदवारों के भाग्य का फैसला करेंगे.

दसवीं बार जीत का इरादा लिए चुनावी मैदान में उतरे माकपा सांसद बासुदेव आचार्य के सामने बांकुरा से इस बार तृणमूल कांग्रेस की उम्मीदवार मुनमुन सेन की चुनौती होगी. भाजपा उम्मीदवार बाबुल सुप्रियो आसनसोल में तृणमूल कांग्रेस की डोला सेन को कड़ी टक्कर देने को तैयार हैं जबकि बीते दौर की अभिनेत्री संध्या रॉय मिदनापुर से भाकपा के प्रबोध पांडा को चुनौती देंगी. झाड़ग्राम, बिनपुर, बांदवान, बलरामपुर, जयपुर, और बाघमुंदी में विशेष रूप से सुरक्षा कड़ी कर दी गई है.

उत्तर प्रदेश

लोकसभा चुनाव के आठवें चरण के तहत उत्तर प्रदेश में कड़ी सुरक्षा के बीच मतदान हो रहा है. उत्तर प्रदेश में लोकसभा चुनाव के पांचवे चरण के मतदान में आज 15 सीटों पर अपराहन एक बजे तक औसतन करीब 36.15 प्रतिशत मतदान हुआ. राज्य में यह मतदान का पांचवां चरण है. इस चरण में 2.52 करोड़ मतदाता 243 उम्मीदवारों की किस्मत का फैसला करेंगे. मतदान सुबह सात बजे शुरू हुआ, जो शाम छह बजे तक चलेगा. मतदान शुरू होते ही लोग उत्साह से अपने मताधिकार का प्रयोग करने बूथों पर पहुंच रहे हैं.

इस चरण में अमेठी, सुल्तानपुर, प्रतापगढ़, कौशाम्बी, फूलपुर, इलाहाबाद, फैजाबाद, अंबेडकरनगर, बहराइच, कैसरगंज, श्रावस्ती, गोंडा, बस्ती, संतकबीरनगर और भदोही में मतदान होना है. इस चरण में 1.37 करोड़ पुरुष, 1.17 करोड़ महिलाएं तथा 1446 अन्य मतदाता शामिल हैं. मतदान के लिए कुल 25,857 पोलिंग बूथ बनाए गए हैं.

सबसे ज्यादा 34 उम्मीदवार अमेठी से तो सबसे कम 10 उम्मीदवार बहराइच सीट पर हैं. इस चरण में राहुल गांधी, वरुण गांधी, स्मृति ईरानी, कुमार विश्वास, कुंवर रेवती रमण सिंह, राजकुमारी रत्ना सिंह, कीर्तिवर्धन सिंह, मोहम्मद कैफ, ब्रजभूषण शरण सिंह और निर्मल खत्री जैसे दिग्गजों की किस्मत दांव पर है. स्वतंत्र एवं निष्पक्ष मतदान के लिए मतदान केंद्रों पर केंद्रीय सुरक्षा बल की करीब 300 कंपनियां और राज्य पुलिस के करीब 60,000 जवान तैनात किए गए हैं.

बिहार

लोकसभा चुनाव के आठवें चरण के तहत बिहार की सात संसदीय सीटों के लिए बुधवार को कड़ी सुरक्षा के बीच मतदान जारी है. यहां दोपहर 1 बजे तक 36.18 फीसदी मतदान हुआ है. राज्य में यह मतदान का पांचवां चरण है. साथ ही राज्य की दो विधानसभा सीटों के लिए उपचुनाव के तहत भी मतदान कराए जा रहे हैं. बिहार में इस चरण में कुल एक करोड़ आठ लाख 63 हजार 901 मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग करेंगे, जिनके लिए 10,515 मतदान केन्द्र बनाए गए हैं.

आधिकारिक जानकारी के अनुसार, इस चुनाव में नक्सल प्रभावित 10 विधानसभा क्षेत्रों को छोड़कर सभी क्षेत्रों में सुबह सात बजे से शाम छह बजे तक मतदान होगा, जबकि नक्सल प्रभावित 10 विधानसभा क्षेत्रों में मतदाता शाम चार बजे तक मतदान कर सकेंगे. जिन सात संसदीय क्षेत्रों में मतदान शुरू हुआ है, उनमें शिवहर, सीतामढ़ी, मुजफ्फरपुर, महाराजगंज, सारण, हाजीपुर और उजियारपुर संसदीय क्षेत्र शामिल हैं. इस चरण में 10 महिला उम्मीदवारों समेत 118 उम्मीदवार चुनाव मैदान में हैं. महाराजगंज और चिरैया विधानसभा क्षेत्रों में उपचुनाव के लिए भी मतदान हो रहे हैं.

मतदान को लेकर सुरक्षा के पुख्ता प्रबंध किए गए हैं. कुल 66,211 जवानों को तैनात किया गया है. इनमें केन्द्रीय सुरक्ष बलों की 145 कंपनियों और बिहार सैन्य बल की 74 कंपनियों के जवान शामिल हैं. दियारा इलाकों में निगरानी और गश्त के लिए घुड़सवार दस्ते की सात टुकड़ियां तथा नदी मार्ग में गश्त के लिए 36 मोटरवोट की तैनाती की गई है.इस चरण में जिन उम्मीदवारों की किस्मत का फैसला होना है, उनमें राबड़ी देवी, रामविलास पासवान, राजीव प्रताप रूड़ी, रामसुंदर दास, रमा देवी, जनार्दन सिंह सिग्रीवाल, प्रभुनाथ सिंह, अखिलेश प्रसाद सिंह, लवली आंनद प्रमुख हैं.

आंध्र प्रदेश

आंध्र प्रदेश में सीमांध्र क्षेत्र की 25 लोकसभा सीटों और विधानसभा की 175 सीटों के लिए मतदान हो रहे हैं. यहां दोपहर एक बजे तक 42.08 फीसदी मतदान हुआ है. संसदीय और विधानसभा सीटों पर साथ-साथ मतदान कराए जा रहे हैं. लोकसभा की 25 सीटों पर 335 उम्मीदवार किस्मत आजमा रहे हैं.

पूर्व केंद्रीय मंत्री व एन.टी.रामा राव की बेटी डी.पुरनदेश्वरी भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के टिकट पर राजमपेट से चुनाव लड़ रही हैं. सीमांध्र क्षेत्र के विधानसभा सीटों पर चुनाव लड़ने वाले प्रमुख उम्मीदवारों में राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री एवं तेलुगू देशम पार्टी (तेदेपा) के अध्यक्ष चंद्रबाबू नायडू हैं, जो कप्पम विधानसभा क्षेत्र से चुनाव लड़ रहे हैं. वह मुख्यमंत्री पद के प्रमुख दावेदारों में से एक हैं.

मुख्यमंत्री पद के दावेदारों में वाईएसआर कांग्रेस के अध्यक्ष वाई.एस.जगन मोहन रेड्डी भी हैं, जो अपने परिवार के राजनीतिक गढ़ माने जाने वाले पुलेवेंदुला विधानसभा क्षेत्र से किस्मत आजमा रहे हैं. आंध्र प्रदेश में फिलहाल राष्ट्रपति शासन है. दो जून को राज्य के औपचारिक विभाजन के बाद यहां राष्ट्रपति शासन लगाया गया था.

हिमाचल प्रदेश

हिमाचल में लोकसभा की चार सीटों पर मतदान हो रहा है. यहां दोपहर एक बजे तक 37 फीसदी मतदान हुआ है. कांग्रेस, आप और भाजपा के दिग्गजों के बीच लोकसभा सीट के लिए त्रिकोणीय मुकाबले के कारण धौलधार क्षेत्र के अनोखो और शांत वातावरण में राजनीतिक तनाव बढ़ गया है.

इस चुनावी जंग में 12 उम्मीदवार मैदान में हैं. हिमाचल प्रदेश के दो बार मुख्यमंत्री रह चुके बीजेपी के शांता कुमार, 2004 में जीतने वाले कांग्रेस के चंदर कुमार, और 2009 में भाजपा के टिकट पर चुनाव जीतने वाले और अपने सीट से इस साल जनवरी में इस्तीफा देने वाले आम आदमी पार्टी की तरफ से राजन सुशांत, तीन प्रमुख दावेदार हैं.

शांता कुमार, 17 विधानसभा निर्वाचन क्षेत्रों को शामिल करने वाले सीट से इससे पहले तीन बार चुनाव जीत चुके हैं. इस बार इनकी वापसी के जोरदार दावे किए जा रहे हैं. कांग्रेस 7 बार यह सीट जीत चुकी है जबकि 1962 से अब तक भाजपा यहां से पांच बार सफलता का स्वाद चख चुकी है. इस सीट पर फिर से जीतने का प्रयास कर रहे चंदर कुमार के लिए यूपीए के प्रदर्शन से लोगों में असंतोष के कारण इस बार की लड़ाई अलग होगी.

उत्तराखंड

लोकसभा चुनाव के आठवें चरण में बुधवार सुबह उत्तराखंड की सभी पांच लोकसभा सीटों पर मतदान जारी है. उत्तराखंड की पांचों लोकसभा सीटों के लिये आज हो रहे मतदान में दोपहर एक बजे तक 31.97 फीसदी वोटिंग हुई है . इन पांच सीटों के लिए 74 उम्मीदवार मैदान में हैं. राज्य की हरिद्वार लोकसभा सीट पर भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के नेता एवं पूर्व मुख्यमंत्री रमेश पोखरियाल निशंक का मुकाबला कांग्रेस की रेणुका रावत से है. रेणुका मुख्यमंत्री हरीश रावत की पत्नी हैं.

गढ़वाल सीट पर मुकाबला भाजपा नेता व राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री बी.सी. खंडूरी और कांग्रेस के हरक सिंह रावत के बीच है. टिहरी गढ़वाल सीठ पर कांग्रेस ने पूर्व मुख्यमंत्री विजय बहुगुणा के बेटे साकेत बहुगुणा को और भाजपा ने माला राज्यलक्ष्मी शाह को मैदान में उतारा है. पिछले 2009 के लोकसभा चुनाव में राज्य की सभी पांच लोकसभा सीटें कांग्रेस के पाले में रही थीं.

जम्मू-कश्मीर

जम्मू एवं कश्मीर के बारामूला संसदीय क्षेत्र में बुधवार को दोपहर एक बजे तक 23.61 फीसदी मतदान हुआ है. लद्दाख संसदीय क्षेत्र के तहत आने वाले कारगिल जिले के गोमा मतदान केंद्र पर सुबह सात बजे मतदान प्रक्रिया शुरू होने से पहले ही महिला-पुरुष मतदाताओं की कतार लग गई थी.

लद्दाख क्षेत्र के लेह शहर, नुब्रा और जांस्कर विधानसभा क्षेत्रों में भी ही लोगों ने मतदान के लिए सुबह से ही मतदान केंद्रों पर पहुंचना शुरू कर दिया था. लेह शहर से करीब 20 किलोमीटर दूर थिकसा गांव के रबीरपुर मतदान केंद्र पर सुबह सात बजे मतदान शुरू होने के बाद पहले आधे घंटे में 20 वोट पड़े. वर्ष 2009 में लद्दाख में 71.86 प्रतिशत वोट पड़े थे.

उत्तरी कश्मीर के बारामूला संसदीय क्षेत्र में हालांकि मतदान प्रक्रिया काफी सुस्त रही. बारामूला शहर में पहले दो घंटों में कोई भी मतदान के लिए नहीं पहुंचा, जहां कानून-व्यवस्था की दृष्टि से 11 मतदान केंद्र बनाए गए हैं. उत्तरी कश्मीर के कुपवाड़ा तथा हंडवाड़ा में शहरों में हालांकि कुछ लोग मतदान के लिए केंद्रों पर पहुंचे. पट्टन, सोपोर, संबल और हाजिन में भी मतदान केंद्रों पर लोगों की भीड़ कम रही. बारामूला संसदीय क्षेत्र में 11.89 लाख मतदाता हैं. वर्ष 2009 में यहां 41.84 प्रतिशत मतदान हुआ था.

ये भी पढ़ें:

भाजपा प्रत्याशी स्मॄति ईरानी से उलझी प्रियंका वाड्रा की पीए

अमेठी में राहुल को सता रहा हार का डर, पहली बार लगा रहे हर बूथ का चक्कर

स्थानीय प्रशासन राहुल को जिताने में मदद कर रहा, विश्वास का आरोप

8वां चरण: अमेठी समेत 7 राज्यों की 64 सीटों पर मतदान जारी



Comments-
0