अमेठी. अमेठी से भाजपा प्रत्याशी स्मृति ईरानी और कांग्रेस की स्टार प्रचारक प्रियंका गांधी वाड्रा की जनसम्पर्क अधिकारी के बीच आज मतदान के दौरान मौजूदगी को लेकर झड़प हो गई.

स्मृति के जनसम्पर्क अधिकारी अशोक पटेल ने बताया कि स्मृति जब जगदीशपुर के ठौरी गांव में बूथ संख्या 210 और 211 पर पहुंची तो कांग्रेस की स्टार प्रचारक प्रियंका गांधी की पीआरओ प्रीति सहाय बूथ के अंदर मिलीं. इस पर स्मृति ने आपत्ति की तो दोनों के बीच बहस हो गई.

उन्होंने बताया कि स्मृति ने जब प्रीति से एजेंट पास दिखाने को कहा तो वह कोई दस्तावेज पेश नहीं कर सकीं. इस पर पुलिस ने प्रीति को बूथ से बाहर कर दिया.

जिला निर्वाचन अधिकारी जगतराज तिवारी ने को बताया कि स्मृति ने इस मामले में शिकायत जरूर की है लेकिन उनका तथा प्रीति दोनों का ही रवैया गलत था.

उन्होंने कहा कि प्रीति चूंकि अमेठी जिले की रहने वाली नहीं हैं इसलिये उन्हें अमेठी में नहीं होना चाहिये था और स्मृति जिस तरह बूथ के अंदर गयीं और जो उनका अंदाज रहा, वह भी ठीक नहीं था.

प्रियंका की पीए को अमेठी तुरंत छोड़ने का आदेश

अमेठी में बीजेपी की उम्मीदवार स्मृति ईरानी ने प्रियंका गांधी वाड्रा की सचिव प्रीति सहाय पर आरोप लगाया है कि वे लोकल नहीं हैं फिर भी अमेठी के थूरी पोलिंग बूथ पर बीजेपी नेता की मौजूदगी का विरोध कर रही हैं. चुनाव आयोग की तरफ से रिटर्निंग अफसर ने इस मामले को गंभीरता से लेते हुए प्रियंका गांधी के पीए प्रीति सहाय को अमेठी संसदीय क्षेत्र तुरंत छोड़ने का आदेश जारी किया है.



Comments-
0