पल पल इंडिया ब्यूरो, नीमच. एशिया के सबसे बड़े अद्र्धसैनिक बल केरिपुबल के गु्रप केन्द्र नीमच में शौर्य दिवस समारोह का आयोजन किया गया. 9 अप्रैल 1965 को गुजरात की सरदार पोस्ट अपर तैनात 2 बटालियन, के.रि.पु.बल की एक छोसी सी टुकड़ी ने पाकिस्तान सेना के 3500 सेैनिकों वाली एक बिग्रेड स्तर के हमले को नाकाम कर उन्हें पीछे खदेड़ कर अदम्य साहस का परिचय दिया जिसमें पाकिस्तान सेना के 34 सैनिक मारे गए तथा 4 सैनिकों को जिंदा पकड़ लिया. इस हमले में केन्द्रीय रिजर्व पुलिस बल के 6 जवान भी देश की सरहद की रक्षा करते हुए कर्तव्यपथ पर शहीद हो गए. केन्द्रीय रिजर्व पुलिस बल में तक से प्रतिवर्ष 9 अप्रैल शौर्य दिवस के रूप में मनाया जाता है. इसी श्रृखंला में शौर्य दिवस गु्रप केन्द्र केरिपुबल नीमच में स्टेशन स्तर पर मनाया गया. इस अवसर पर ग्रुप केेन्द्र के क्वार्टर गार्ड मेेंं स्टेशन पर उपस्थित वरिष्ठ अधिकारी सतपाल रावत, पुलिस उपमहानिरीक्षक, सी.टी.सी. केरिपुबल नीमच को जवानों द्वारा सलामी दी गई तथा क्वार्टर गार्ड पर रखे रजिस्टर में इससे संबंधित इस दिन के महत्व को दर्शाते हुए वरिष्ठतम अतिधकारी द्वारा विशेष इन्द्राज गार्ड में सरदार पोस्ट से लाई मिट््टी के कलश पर उनके द्वारा माल्यार्पण किया गया. तत्पश्चात् गु्रप केन्द्र केरिपुबल नीमच के मेन्स क्लब मेें सैनिक सम्मेलन आयोजित किया गया, मुख्य अतिथि ने इस दिन के महत्व के बारे में प्रकाश डाला. इसके पश्चात् शौर्य पदक धारकों सेवानिवृत्ति पदक विजेताओं तथा सेवारत पदक विजेताओं को स्मृति चिन्ह, शाल एवं उपहार प्रदान कर सम्मानित किया गया तथा ग्रुप केन्द्र नीमच के उ.नि. टेलर महावीर प्रसाद को उनके बेदाग रिकार्ड एवं प्रशंसनीय कार्यो के लिए महानिर्देशक केरिपुबल नई की तरफ से केरिपुबल स्थापना दिवस - 2013 मेंं प्राप्त डी.जी. डिस्क एवं प्रशस्ति प्रमाण पत्र से सम्मानित किया गया. जवानों बकी वीरता को याद करने के लिए शपथ ग्रहण ली गई.



Comments-
0