नई दिल्ली : प्रियंका गांधी वाड्रा मंगलवार रात अचानक कांग्रेस मुख्यालय पहुंचीं और पार्टी के बुधवार को जारी होने वाले घोषणा पत्र की तैयारियों का जायजा लिया. उनके साथ वरिष्ठ कांग्रेस नेता अहमद पटेल, मोती लाल वोरा, जनार्दन द्विवेदी तथा अन्य नेता थे. उन्होंने एआईसीसी लॉन का निरीक्षण किया जहां कार्यक्रम के लिए एक मंच बनाया गया है. प्रियंका के कांग्रेस मुख्यालय दौरे से कांग्रेस के मामलों में उनकी बढ़ती संभावित भूमिका के बारे में फिर से अटकलें लगनी शुरू हो गई हैं.

मालूम हो कि कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी बुधवार को यहां प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और राहुल गांधी सहित पार्टी के कई वरिष्ठ नेताओं की मौजूदगी में घोषणा पत्र जारी करेंगी. स्वास्थ्य सेवा एवं रोजगार को कानूनी अधिकार के दायरे में लाना इस घोषणा पत्र के मुख्य बिन्दु होंगे. मनमोहन सिंह के नेतृत्व में 10 साल तक आर्थिक उदारीकरण की नीति का अनुसरण करने के बाद इस चुनाव में राहुल गांधी के केन्द्रीय भूमिका में आने के बाद कांग्रेस द्वारा अब मध्य मार्गी राजनीति के तहत कल्याणकारी उपायों पर विशेष ध्यान देने की उम्मीद है.

सूत्रों ने कहा कि विभिन्न पक्षों के साथ हुई व्यापक चर्चा और विचार विमर्श के बाद तैयार घोषणा पत्र के मसौदे को एके एंटनी की अध्यक्षता वाली समिति की 16 मार्च को हुई बैठक में लगभग अंतिम रूप दे दिया गया. इसके बाद इसमें कुछ मामूली अतिरिक्त जानकारियां और शामिल की गईं. एंटनी के अलावा घोषणा पत्र समिति में पी. चिदंबरम, सुशील कुमार शिंदे, आनंद शर्मा, सलमान खुर्शीद, संदीप दीक्षित, अजीत जोगी, रेणुका चौधरी, पीएल पूनिया, मोहन गोपाल, जयराम रमेश और दिग्विजय सिंह शामिल हैं.



Comments-
0