नई दिल्ली. केंद्र की यूपीए सरकार पर मंडराते सियासी संकट के बीच लोकसभा चुनाव समय से पहले होने के आसार बढ़ते जा रहे हैं. कांग्रेस उपाध्‍यक्ष राहुल गांधी ने पार्टी सांसदों से कहा है कि वे चुनाव के लिए तैयार रहें.

महत्वपूर्ण है राहुल की टिप्‍पणी

राहुल गांधी ने उत्तर प्रदेश के कांग्रेसी सांसदों से बातचीत करते हुए चुनाव के लिए तैयार करने की बात कही है, लेकिन डी एम के की समर्थन वापसी के बाद कांग्रेसी युवराज की इस टिप्पणी को बेहद महत्वपूर्ण और मानीखेज़ माना जां रहा है. हालांकि राहुल गांधी हाल के दिनों में कांग्रेसी सांसदों और कार्यकर्ताओं से मुलाकात कर लगातार सियासी पाठशाला लगा रहे हैं और चुनाव के बारे में जरूरी टिप्‍स भी दे रहे हैं.

खतरे में सरकार की स्थिरता

राहुल गांधी की ताजा टिप्‍पणी काफी मायने रखती है, क्‍योंकि यूपीए सरकार की स्थिरता को खतरा पैदा हो गया है. एक ओर केंद्रीय मंत्री बेनी प्रसाद वर्मा की बर्खास्‍तगी की मांग को लेकर समाजवादी पार्टी का रुख कठोर हो गया है. तो दूसरी ओर श्रीलंकाई तमिलों के मुद्दे पर डीएमके सांसदों ने यूपीए सरकार से इस्‍तीफा दे दिया है.

होंगे मध्‍यावधि चुनाव?

जहां तक अन्‍य राजनीतिक पार्टियों की बात है, जेडीयू और आरजेडी का मानना है कि देश में मध्‍यावधि चुनाव की संभावना नहीं है. इसके विपरीत, समाजवादी पार्टी ने नेता नरेश अग्रवाल ने कहा कि लोकसभा के चुनाव अक्‍टूबर में हो सकते हैं.