देहरादून . गुजरात के मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी ने देहरादून में अपनी टीम के साथ पहुंचते ही दबंग अंदाज में करीब 15 हजार गुजराती लोगों को महज दो दिन में वहां से निकाल कर उन्हें सुरक्षित घर पहुंचा दिया है .

शुक्रवार की रात देहरादून पहुंचते ही मोदी ने बिना किसी देरी से जौली ग्रांट एयरपोर्ट पर बैठे करीब 134 गुजराती तीर्थ यात्रियों को अपने चार्टर्ड प्लेन से अहमदाबाद रवाना कर दिया. मोदी अपने साथ गुजरात से 5 आईएएस, 1 आईपीएस, 1 आईएफएस, दो गुजरात प्रशासनिक सेवा के आला अधिकारी, दो डीएसपी और 5 पुलिस इंस्पेक्टर को लेकर गए थे.

वहीं मोदी के इस अंदाज पर कोंग्रेसियों ने प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि मोदी सिर्फ गुजरातियों के लिए काम करते हैं. मोदी को सिर्फ गुजरातियों की फिक्र है. मोदी ने दूसरे प्रदेशों के लोगों की मदद नहीं कि जबकि उन्हें भी मदद की जरूरत थी.

बताया जा रहा है कि मोदी ने अपने टीम के साथ मीटिंग भी की. इसके बाद वहां पर फंसे गुजरात के यात्रियों को देहरादून तक पहुंचाने के लिए 80 इनोवा का इंतजाम किया गया. इसके अलावा 25 लग्जरी बसों से कई यात्रियों को दिल्ली रवाना किया गया. इतना ही नहीं, मोदी ने टिहरी में फंसी एक गुजराती श्रद्धालु की कार को निकालने के लिए एक आईएएस अधिकारी को तुरंत वहां भेजा.